Nation Speaks

Ab Bolega Hindustan

हाईवे पर जहां पंत का एक्सीडेंट हुआ , है ब्लैक स्पॉट, पुलिस ने भी मानी यहां पर होते हैं एक्सीडेंट   

1 min read
NH 58 नेशनल हाईवे (दिल्ली–हरिद्वार) पर रुड़की के पास क्रिकेटर ऋषभ पंत की कार का एक्सीडेंट हुआ। हादसा जिस जगह पर हुआ, वहां 50 मीटर तक सड़क ऊबड़-खाबड़ है। गड्ढ़े हैं, गिट्‌टी बिखरी पड़ी है। प्रशासन ने इस जगह को ब्लैक स्पॉट घोषित कर रखा है। लेकिन, हादसे के पहले तक इस स्पॉट पर डेंजर जोन एक साइन बोर्ड नहीं लगा था। लेकिन हादसे के बाद प्रशासन ने यहां साइन बोर्ड लगा दिया है। स्पॉट की नाप-जोख करने सड़क परिवहन विभाग के अधिकारी भी पहुंचे। आज दिल्ली और देहरादून से भी कुछ अधिकारी यहां जांच के लिए पहुंच रहे हैं।

नारसन चौकी पर एक पुलिसकर्मी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया, “हाईवे के इस स्पॉट पर हर महीने में 7 से 8 एक्सीडेंट इन्हीं गड्ढे के चलते होते हैं। कई बार तो ऑन द स्पॉट लोगों की मौत हो जाती है। कुछ समय पहले भी बड़ा एक्सीडेंट हुआ था। जिसमें मौत हो गई थी। ऋषभ पंत की कार एक्सीडेंट की वजह भी यही गड्ढे हैं। क्योंकि यहां स्पीड में नियंत्रण रख पाना मुश्किल होता है। पंत के हादसे के बाद इस स्पॉट को लेकर अधिकारियों ने कुछ भी बोलने से मना किया है। हर माह इस ब्लैक स्पॉट पर 2 से 3 एक्सीडेंट हो जाते हैं।”

एक्सीडेंट के बाद कार में लग गई थी आग 

 कार डिवाइडर से टकराने के बाद कुछ फीट तक घसीटते चली गई। कार पलट जाने के बाद उसमें आग लग गई थी। ऋषभ पंत अपनी मर्सिडीज कार चलकर अपने घर जा रहे थे तभी तड़के सुबह झपकी आ जाने से उनका एक्सीडेंट हो गया था। 

ऋषभ पंत का मैक्स हॉस्पिटल में चल रहा है इलाज , BCCI कर सकता है मुंबई शिफ्ट 

टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभपंत का शुक्रवार को दिल्ली से रुड़की अपने घर जाते वक्त एक्सीडेंट हो गया था। उनका इलाज देहरादून के मैक्स अस्पताल में चल रहा है। शुक्रवार को उनके चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी हुई है। पंत को माथे, दाहिने हाथ की कलाई, दाहिने पैर का घुटना, टखना और अंगूठे में चोट लगी है। उनके दाहिने घुटने में लिगामेंट फट गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पंत के इलाज को लेकर कोई कोताही नहीं बरतना चाहती है। उन्हें देहरादून से मुंबई शिफ्ट किया जा सकता है, ताकि BCCI की मेडिकल टीम की निगरानी में उनके लिगामेंट का इलाज हो सके। यही नहीं जरूरत पड़ने पर BCCI उन्हें विदेश भी इलाज के लिए भेज सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2022 | Newsphere by AF themes.
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)