Nation Speaks

Ab Bolega Hindustan

भारतीय मूल के ऋषि सुनक नहीं बन पाएंगे ब्रिटेन के प्रधानमंत्री, जानिए क्या वजह रही 

1 min read

ब्रिटेन के दक्षिणपंथी फायरब्रांड नेता 46 साल की लिज ट्रस ब्रिटेन के नई प्रधानमंत्री होंगी। इसका ऐलान भारतीय समयानुसार शाम को 5 बजे होगा। लिज अक्टूबर में बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी। लिज को ब्रिटेन की सियासत में फायरब्रांड नेता के तौर पर जाना जाता है। 

7 जुलाई को बोरिस जॉनसन ने पार्टी नेता के पद से इस्तीफा दिया था। उसके बाद कंजरवेटिव पार्टी में उनका मुकाबला भारतीय मूल के ऋषि सुनक से था। पार्टी के करीब 1.60 लाख सदस्य वोटिंग कर चुके हैं। एक सर्वे के मुताबिक, पार्टी के हर 10 में से 6 मेंबर्स लिज के साथ हैं।

कंजर्वेटिव पार्टी के सांसदों की वोटिंग के पांचों राउंड में सुनक ने लिज ट्रस को मात दी थी, लेकिन अंतिम फैसला तो इस पार्टी के करीब 1 लाख 60 हजार रजिस्टर्ड मेंबर्स करते हैं। इसमें लिज ने बाजी मार ली। बोरिस जॉनसन भी सुनक के फेवर में नहीं थे।

भारतीय समयानुसार शाम को 5 बजे सर ग्राहम ब्रैडी विजेता की घोषणा करेंगे। ब्रैडी बैकबेंच टोरी सांसदों की 1922 समिति के अध्यक्ष और चुनाव के रिटर्निंग ऑफिसर हैं।

भारतीय मूल के ऋषि सुनक का हारने की वजह 

ब्रिटिश मीडिया इसकी कई वजहें बता रहा है। इनमें से दो अहम हैं। पहली- पत्नी अक्षता के पास ब्रिटेन की नागरिकता न होना है। दूसरी- कंजर्वेटिव पार्टी के ज्यादातर ब्रिटिश मेंबर्स अपने ही देश के नागरिक को प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे। पार्टी चुनाव से पहले  कंजर्वेटिव पार्टी के ज्यादातर सांसद सुनक के फेवर में थे। बोरिस जॉनसन के इस्तीफे के बाद सुनक ने सबसे पहले प्रधानमंत्री पद का दावा ठोका। ‘रेडी फॉर ऋषि’ कैम्पेन से बढ़त बनाई। साजिद जाविद, नदीम जवाहिरी और आखिर में मॉरडेंट रेस से बाहर हुईं। ट्रस रेस में सबसे आखिर में शामिल हुईं और वक्त के साथ सबसे आगे निकल गईं। कंजर्वेटिव सांसद और पार्टी मेंबर्स मान रहे थे कि सुनक की वजह से ही जॉनसन को इस्तीफा देना पड़ा। उन्हें पीठ में छुरा घोंपने वाला तक कहा गया। एक तरह से माना गया कि ऋषि सुनक बोरिस जॉनसन का तख्तापलट किया। वो भी तब जबकि जॉनसन ने ही सुनक के पॉलिटिकल कॅरियर को आगे बढ़ाया था। इससे लोगों में नाराजगी थी। वहीं ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता पर आरोप लगा कि ब्रिटिश की  रानी एलिजाबेथ से भी अमीर हैं। और उन्होंने अभी तक भारतीय नागरिकता को नहीं त्यागी है।कुछ खबरों में ये भी सामने आया की भारतीय नागरिकता की वजह से सुनक परिवार बहुत लंबे वक्त तक ब्रिटेन में नहीं रहना चाहते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *