Nation Speaks

Ab Bolega Hindustan

घाटी में टारगेट किलिंग थमने का नाम नहीं ले रहा है ,आतंकियों ने कश्मीरी पंडित को गोली मारकर की हत्या

1 min read
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने एक बार फिर अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देकर घाटी को दहला दिया है।दक्षिण कश्मीर के शोपियां में कश्मीरी युवक सुनील भट्ट को गोलियों से भून दिया गया उसके भाई पिंटू भट्ट को भी गोलियां लगी है और इनका इलाज अस्पताल में चल रहा है। धारा ३७० हटने के बाद घाटी में टारगेट किलिंग के घटना में काफी बढ़ोतरी हुई है
कुछ दिन  पहले जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकियों ने एक प्रवासी मजदूर की गोली मारकर हत्या कर दी थी।आतंकी हमले में मारे गए मोहम्मद अमरेज बिहार के रहने वाले थे।19 साल के मोहम्मद अमरेज बिहार के मधेपुरा जिले के बेसाढ़ गांव के रहने वाले थे।
जनवरी 2021 से अब तक जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने टारगेट किलिंग और सुरक्षा बलों पर किए गये हमलों में 55 नागरिक की जान ले ली। पिछले साल जहां 35 नागरिक मारे गए थे वहीं इस साल 2 जून तक 20 लोगों की आतंकियों के हाथों हत्या की जा चुकी है। मार्च 2022 से 2 जून 2022 के बीच 20 में से 18 लोगों की मौत हो गई। जिसमें टारगेट किलिंग और ग्रेनेड हमले दोनों के शिकार शामिल हैं।
आंकड़ों के अनुसार इस साल 2 जून तक जम्मू-कश्मीर में 20 टारगेट किलिंग्स हुई है जबकि 2021 में इसी अवधि में दर्ज की गई हत्याओं की लगभग दोगुनी हैं। 2022 में पहली हत्या 5 फरवरी को जम्मू के पुंछ जिले के तारगैन गांव में मोहम्मद अकरम शाह की हुई थी। जिसके बाद शोपियां के अमशीपोरा इलाके में एक अन्य नागरिक शकील अहमद की हत्या कर दी गई थी।

आंकड़ों से पता चलता है कि इस साल अब तक अधिकांश नागरिक हत्याएं दक्षिण कश्मीर में की गई है। उसके बाद कि हुई हत्याएं श्रीनगर और बडगाम में हुईं। हालांकि 2021 में पहले छह महीनों में 11 हत्याएं हुईं और बचे छह महीनों में 24 हत्याएं दर्ज की गयी। मई में कुल छह नागरिकों की हत्याएं हुईं जिनमें चदूरा बडगाम में एक कश्मीरी पंडित और सरकारी राहुल भट की हत्या शामिल है।
कुलगाम में शिक्षिका रजनी बाला, बडगाम में टीवी कलाकार अंबरीन भट की हत्या की जा चुकी है। वहीं बारामूला में शराब की दुकान पर हुए ग्रेनेड हमले में रंजीत सिंह भी शहीद हुए हैं। टारगेट किलिंग में हाल ही में रजस्थान के एक बैंक प्रबंधक विजय कुमार भी शामिल थे, जिनकी 2 जून को कुलगाम में और उसी दिन बडगाम में एक प्रवासी मजदूर दिलकुश कुमार की हत्या कर दी गई।

  इससे पहले अप्रैल के महीने में आंतकवादियों ने दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के काकरान इलाके में एक गैर-कश्मीरी व्यक्ति की गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी. बता दें कि आतंकवादियों ने गैर-स्थानीय लोगों को घाटी छोड़ने की चेतावनी दी है. आतंकी इस प्रकार से गैर-कश्मीरी लोगों की हत्या कर वहां पर डर का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2022 Designed and Developed by Webnytic
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)