Nation Speaks

Ab Bolega Hindustan

बिहार में चल रहा था पूरा का पूरा फर्जी थाना , इंस्पेक्टर से लेकर फर्जी DSP तैनात

1 min read
 अक्सर आप फर्जी पुलिसवाले ,फर्जी अफसर और फर्जी लोगों से सम्बधित ख़बरें जरूर पढ़े होंगे।लेकिन एक चौकाने वाली खबर बिहार से है जहाँ खबर की खबर पढ़ी और सुनी होगी, लेकिन बिहार के जिला बाका से है जहां पूरा का पूरा थाना ही नकली चल रहा था। वह भी 8 महीने से। DSP से लेकर मुंशी और कॉन्स्टेबल तक सभी काम कर रहे थे। सभी वर्दी में होते और कार्रवाई भी करते थे। रिवाल्वर के जगह महिला दरोगा को कट्टा दिया गया था।फर्जी थाने के पूरा स्टाफ रोज के पांच सौ रुपए के दिहाड़ी पर काम कर रहा था।
 शहर के बीचों बीच एक होटल से यह फर्जी थाना चल रहा था। बताया जा रहा है की असल थाने से मात्र पांच सौ मीटर के दूरी पर ये फर्जी थाना चल रहा था। बांका नगर थानाध्यक्ष शंभू यादव इस फर्जीवाड़े को तब पकड़ा जब वे शहर में गश्ती कर रहे थे। शहर के गांधी चौक से शिवाजी चौक के बीच उनकी नजर वर्दी में एक युवक पर पड़ी। जो DSP रैंक के वर्दी पहने हुआ था लेकिन उसके हाव भाव  को देखकर थानाध्यक्ष शंभू यादव को शक हुआ। युवक से पूछताछ की तो फर्जी थाने का पूरा खुलासा हो गया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। DSP वर्दी पहने आकाश कुमार भागलपुर जिला के सुल्तानगंज थाना के खानपुर गांव का है। एक अन्य शख्स रमेश कुमार मांझी फुल्लीडुमर थाना क्षेत्र के लौंडिया गांव का है। इन लोगों ने एक महिला दरोगा की भी नियुक्ति की थी, जो फुल्लीडुमर थाना क्षेत्र के दूधघटिया गांव की श्यामलाल टुड्डू की पुत्री अनीता देवी है। इसे सर्विस रिवाल्वर के नाम पर कट्टा दिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2022 | Newsphere by AF themes.
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)